हरियाणा: दहेज के लिए जुल्म की इंतहा, बेटी होने पर चटवाए पति के पैर और मांगी 15 लाख रुपए की गाड़ी

पानीपत | केन्द्र सरकार के साथ- साथ प्रदेश सरकारें भले ही बेटी पढ़ाओ- बेटी बचाओ अभियान को सफल बनाने की दिशा में काम कर रही हों लेकिन आज भी कई सामाजिक कुरीतियां ऐसी है जिनकी जड़ें इतनी गहरी हो चुकी है कि ओछी मानसिकता वाले लोग इस दलदल से बाहर ही नहीं निकल रहें हैं. इन्हीं में से एक दहेज प्रथा नाम की सामाजिक बुराई है जिसने बेटियों के जीवन को नरक बना दिया है. अगर शादी के बाद बेटी की कोख से लड़की पैदा हो जाएं तो जुल्म की इंतहा इस हद तक हो जाती है कि सोचकर भी रूह कांप उठे.

dhej

ऐसा ही एक मामला हरियाणा के पानीपत जिलें से सामने आया है जहां शादी के पांच साल बाद विवाहिता ने चांदनी बाग थाने में पति व ससुराल वालों के खिलाफ दहेज के लिए प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए केस दर्ज कराया है. मिली जानकारी अनुसार पानीपत निवासी प्रोफेसर की बेटी की शादी 7 दिसंबर 2017 को गाजियाबाद निवासी दिव्यांग गुप्ता के साथ हुई थी. शादी के वक्त पिता ने अपनी औकात से बढकर 50 लाख रुपए दहेज में दिए लेकिन कुछ ही दिनों बाद कम दहेज की बात को लेकर विवाहिता को प्रताड़ित करना शुरू कर दिया.

विवाहिता ने आरोप लगाते हुए कहा कि ससुराल वालों ने उस पर बांझ होने का आरोप लगाया लेकिन जब दोनों का मेडिकल कराया गया तो पति में ही कमी पाई गई. लगातार उपचार के कुछ दिनों के बाद पति ठीक हो गया और उसने अगस्त 2020 में एक बेटी को जन्म दिया लेकिन उन्होंने ताना मारते हुए कहा कि हमें तो बेटा चाहिए था. इसी बात से प्रताड़ित करते हुए सितंबर 2020 में पति व ससुराल वालों ने उसे बुरी तरह से पीटा और पति के पैर चटवाएं.

यह भी पढ़े -   पानीपत रिफाइनरी को इथेनॉल प्लांट की सौगात, पीएम मोदी आज करेंगे शुभारंभ

विवाहिता ने बताया कि इसके बाद सुलह करवाने को लेकर काफी पंचायतें भी हुई लेकिन ससुराल वाले 15 लाख रुपए की कीमत वाली गाड़ी की मांग पर अड़े रहे जिसे देने में मेरे घरवालों ने असमर्थता जताई. इसके बाद प्रताड़ित करने का सिलसिला और अधिक बढ़ता चला गया. विवाहिता ने बताया कि उसका ससुर किसी भी वक्त उसके कमरे में घुस आते थे और अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने लगते. उनकी प्रताड़ना से तंग आकर वह 3 जुलाई 2022 को मायके आ गई और अपनी बेटी को छोड़कर अगले दिन वापस ससुराल पहुंच गई लेकिन उसे घर नहीं घुसने दिया गया.

यह भी पढ़े -   पानीपत रिफाइनरी को इथेनॉल प्लांट की सौगात, पीएम मोदी आज करेंगे शुभारंभ

विवाहिता की शिकायत मिलने के बाद पानीपत के चांदनी बाग थाना पुलिस ने पति, सास-ससुर ननंद और ननदोई के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का मामला दर्ज किया है. एसएचओ महिपाल सिंह ने बताया कि पीड़िता की शिकायत पर केस दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी गई है. मामले की गंभीरता को देखते हुए गहनता से जांच की जाएगी और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!