गुरूग्राम: मंत्री के नाम पर आबकारी विभाग के अधिकारी ने मांगी थी महंगी शराब, अब मिली ये सजा

गुरूग्राम | आबकारी विभाग के एक अधिकारी का ऑडियो क्लिप सामने आने के बाद सजा के तौर पर उसका तबादला कर दिया गया है. ऑडियो में उसे शराब की दुकान के एक कर्मचारी से मंत्रिस्तरीय समारोह के लिए स्कॉच व्हिस्की की बोतलें भेजने के लिए कहते हुए सुना गया था.

Liquor Wine Daru Shop

शराब विक्रेता ने यह ऑडियो मुख्यमंत्री शिकायत निवारण तंत्र, गृह मंत्री और वरिष्ठ अधिकारियों को भेजा था. इसमें आबकारी विभाग के निरीक्षक संदीप लोहान को शराब की दुकान के कर्मचारी को उस होटल में व्हिस्की की छह बोतलें भेजने के लिए कहते सुना जा सकता है, जहां एक मंत्री का कार्यक्रम हो रहा है. कथित तौर पर लोहान नाराज़ हो जाता है जब कर्मचारी ने उसे बताया कि व्हिस्की उपलब्ध नहीं है. घटना 14 अगस्त की बताई जा रही है.

जांच के आदेश जारी

गुरुग्राम (पूर्व) के उप उत्पाद शुल्क और कराधान आयुक्त (आबकारी) रविंदर सिंह ने कहा, “संबंधित आबकारी निरीक्षक को गुरुग्राम में अपने कार्यालय के कर्तव्यों से मुक्त कर दिया गया है और तत्काल प्रभाव से पंचकुला में प्रधान कार्यालय को रिपोर्ट करने का निर्देश दिया गया है. आरोपों की जांच के आदेश दे दिए गए हैं. जांच पूरी होने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

यह भी पढ़े -   दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे पर दिसंबर से दौड़ेंगे गुरुग्राम-दौसा के बीच वाहन, 2 घंटे में तय होगा 250 KM का सफर

6 महीने के लिए पंचकूला ट्रांसफर

उप आबकारी एवं कराधान आयुक्त (आबकारी) गुरुग्राम (पूर्व) की ओर से संबंधित आबकारी निरीक्षक को लिखे पत्र में कहा है कि विभिन्न स्रोतों से पता चलता है कि आपका कार्य संतोषजनक नहीं है. अतः आपको सौंपे गए कार्य जनहित में तत्काल प्रभाव से वापस लिए जाते हैं. आबकारी एवं कराधान आयुक्त ने गुरुवार को जारी एक आदेश में कहा कि आबकारी निरीक्षक को छह महीने के लिए हरियाणा के पंचकूला कार्यालय में अस्थायी रूप से स्थानांतरित कर दिया गया है.

यह भी पढ़े -   दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे पर दिसंबर से दौड़ेंगे गुरुग्राम-दौसा के बीच वाहन, 2 घंटे में तय होगा 250 KM का सफर

इस मामले में सबसे अहम बात यह है कि आबकारी विभाग के अधिकारी को केवल सजा के तौर पर तबादला किया गया है. जो कि चर्चा का विषय बना हुआ है. वहीं सोशल मीडिया पर लोगों का कहना है कि केवल तबादला से अधिकारी को दंड दिया जाना उचित नहीं है. अधिकारी के खिलाफ मामला दर्ज होना चाहिए.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!