हरियाणा की चर्चित IAS रानी नागर फिर सुर्खियों में, जानें इस बार क्या है मामला

नई दिल्ली | हरियाणा की चर्चित आइएएस रानी नागर एक बार फिर सुर्खियों में बनी हुई है. हरियाणा कैडर की 2014 बैच की आइएएस अधिकारी ने फिर से अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. इससे पहले 2020 में भी उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने राष्ट्रपति को अपना त्यागपत्र भेजा है.

rani nagar ias

हस्तलिखित इस्तीफे की प्रति

रानी नागर ने हस्तलिखित इस्तीफे की प्रति हरियाणा के मुख्य सचिव और केंद्रीय कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग को भी भेजी है. 7 अगस्त से छुट्टी पर चल रहीं रानी नागर ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के नियमों का हवाला देते हुए तुरंत प्रभाव से इस्तीफा स्वीकार करने का आग्रह किया है.

इससे पहले रानी नागर ने 4 मई 2020 को गंभीर आरोप लगाते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. तब केन्द्रीय राज्यमंत्री कृष्ण पाल गुर्जर और यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती उनके समर्थन में खड़े हो गए थे, जिसके बाद प्रदेश सरकार ने उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया था. हालांकि उनके खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए प्रदेश सरकार उनका कैडर हरियाणा से बदलकर उत्तर प्रदेश करने की सिफारिश पहले ही कर चुकी है.

यह भी पढ़े -   AC Bill Saving Tips: इतने डिग्री पर चलाए AC, फिर नहीं आएगा ज्यादा बिजली का बिल

गाजियाबाद में लें रही है स्वास्थ्य लाभ

आइएएस रानी नागर वर्तमान में यूपी के गाजियाबाद स्थित अपने पैतृक आवास पर स्वास्थ्य लाभ ले रही है. गत 23 अप्रैल को भी उन्होंने अपने फेसबुक अकाउंट पर एक सनसनीखेज पोस्ट शेयर की थी, जिसने सभी को हैरानी में डाल दिया था. एक कारतूस और ताबीज की फोटो शेयर करते हुए उन्होंने अपनी हत्या की आंशका जताई थी.

यह भी पढ़े -   हरियाणा: खरखौदा में होगी मारूति के तीसरे प्लांट की स्थापना, रोजगार के बढ़ेंगे अवसर

इससे पहले उन्होंने जून 2018 में पशुपालन विभाग में रहते वरिष्ठ आइएएस पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाया था. यह मामला मुख्यमंत्री के पास भी पहुंचा था. रानी ने चंडीगढ़ की जिला अदालत में उक्त आइएएस व यूटी के कुछ पुलिस अफसरों पर मामला भी दर्ज कराया हुआ है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!