हरियाणा में हल्की बारिश होने की संभावना, देखिये मौसम विभाग का पूर्वानुमान

हिसार । हरियाणा में हल्की बूंदाबांदी होने की संभावना जताई जा रही है. मौसम विभाग के अनुसार पाश्चिमी विक्षोभ के आंशिक प्रभाव के कारण राज्य के उत्तर दक्षिण क्षेत्रों के कुछ स्थानों पर हल्की बूंदाबांदी होने की संभावना है. इस दौरान राज्य में दिन के तापमान में हल्की गिरावट और रात के तापमान में हल्की बढ़ोतरी होने की संभावना भी जताई गई है. इसी के साथ तमिलनाडु, मध्य महाराष्ट्र के बाकी हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. रायलसीमा, कर्नाटक, गुजरात के मध्य भाग, मध्य प्रदेश के पश्चिमी भाग और दक्षिण-पूर्व राजस्थान में अलग-अलग स्थानों पर भी हल्की बारिश संभव है.

BARISH 2

हरियाणा राज्य में मौसम आमतौर पर 6 दिसम्बर तक परिवर्तनशील बने रहने की संभावना है. परन्तु पाश्चिमी विक्षोभ के आंशिक प्रभाव के कारण राज्य के उत्तर दक्षिण क्षेत्रों में रात 3 दिसम्बर को कुछ स्थानों पर हल्की बूंदाबांदी होने की संभावना है. परन्तु इसके बाद 5 दिसम्बर को एक और पश्चिमीविक्षोभ आने की संभावना जताई जा रही है, जिसके आंशिक प्रभाव से 5 दिसम्बर रात्रि और 6 दिसम्बर को राज्य में हवायों व गरजचमक के साथ कहीं-कहीं हल्की बारिश भी हो सकती है. इस दौरान राज्य में दिन के तापमान में हल्की गिरावट और रात्रि तापमान में हल्की बढ़ोतरी होने की संभावना है.

अगले 24 घंटों के दौरान मौसम की संभावित गतिविधियां

  • अगले 24 घंटों के दौरान, तटीय आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु के कुछ हिस्सों, केरल, दक्षिण गुजरात और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और कोंकण और गोवा के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है.
  • तमिलनाडु और मध्य महाराष्ट्र के बाकी हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. रायलसीमा, कर्नाटक, गुजरात के मध्य भाग, मध्य प्रदेश के पश्चिमी भाग और दक्षिण-पूर्व राजस्थान में अलग-अलग स्थानों पर हल्की बारिश की संभावना है.
यह भी पढ़े -   अगले तीन घंटो में हरियाणा के इन जिलों में झमाझम बारिश, जाने जिलों के नाम

पिछले 24 घंटों के दौरान देश भर में हुई मौसमी हलचल

पिछले 24 घंटों के दौरान, तटीय आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु के कुछ हिस्सों और रायलसीमा में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई. तमिलनाडु, रायलसीमा, केरल और लक्षद्वीप के शेष हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई. कर्नाटक और मराठवाड़ा और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के अलग-अलग हिस्सों में भी हल्की बारिश हुई है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में जनवरी की बारिश ने कई सालों का रिकॉर्ड तोड़ा, जानें अब कैसा रहेगा मौसम

देश भर में बने मौसमी सिस्टम

  • चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दक्षिण-पूर्वी अरब और लक्षद्वीप क्षेत्र के आसपास के हिस्सों पर है जो समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर तक फैला हुआ है. 1 दिसंबर के आसपास महाराष्ट्र के तट के पास पूर्वी मध्य अरब सागर के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बनने की उम्मीद है.
  • 30 नवंबर की शाम तक दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर एक और कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है. इसके उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और अगले 48 घंटों के दौरान दक्षिण-पूर्व और इससे सटे पूर्वी मध्य बंगाल की खाड़ी में एक डिप्रेशन में सशक्त हो जाने की उम्मीद जताई जा रही है.
  • पश्चिमी विक्षोभ के 1 से 2 दिसंबर के बीच पश्चिमी हिमालय को प्रभावित कर सकता है. एक और ताजा पश्चिमी विक्षोभ के 4 दिसंबर की रात से उत्तर पश्चिमी भारत को प्रभावित करने की संभावना है.
यह भी पढ़े -   मौसम विभाग ने 26 जनवरी तक जारी किया अलर्ट, जानिए कैसा रहेगा मौसम

 

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!