हरियाणा भाजपा का फैसला, फील्ड में उतरेंगे नेता, विरोध करने वालों से निपटेगी पुलिस

चंडीगढ़ | तीनों कृषि कानूनों को लेकर किसानों का आक्रामक विरोध झेल रहे हरियाणा भाजपा के विधायक, मंत्री और पदाधिकारी अब सार्वजनिक कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे. भाजपा कोर कमेटी और जिला अध्यक्षों की बैठक में इस फैसले पर अंतिम मुहर लगाई गई है. इसकी शुरुआत 14 अप्रैल को बाबा भीमराव अम्बेडकर जयंती पर हरियाणा में बड़े स्तर के कार्यक्रमों से होगी.

Webp.net compress image 11

14 अप्रैल को हरियाणा बीजेपी हर जिला मुख्यालय पर कार्यक्रम आयोजित करेंगी. हरियाणा बीजेपी की तरफ से विधायक और मंत्रियों के बाबा भीमराव अम्बेडकर जयंती पर कार्यक्रम लगाएं जाएंगे. विधायक और मंत्री तमाम जगहों पर कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे. बैठक में केन्द्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, गृहमंत्री अनिल विज, शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर समेत कई प्रमुख नेता मौजूद थे.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के VVIP गांव की ग्राउंड रिपोर्ट: कोरोना से लगातार हो रही मौते, नही आया कोई नेता हालचाल जानने

प्रदेश अध्यक्ष धनखड़ ने कही ये बात

प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि नेता अभी तक अपनी मर्जी से रुकें हुए थे,अब खुलकर कार्यक्रम करेंगे. पार्टी हर जिला मुख्यालय पर 14 अप्रैल को अंबेडकर जयंती से इसका आगाज करने जा रही है. उल्लेखनीय है कि 6 अप्रैल को पार्टी के स्थापना दिवस पर प्रदेश में भाजपा नेताओं को जगह-जगह विरोध का सामना करना पड़ा था.

यह भी पढ़े -   भूपेंद्र सिंह हुड्डा बोले- किसानों की मांगों को स्वीकार करने के लिए केंद्र पर दबाव बनाए राज्य सरकार

बढ़ सकती है टकराव की घटना

पार्टी के इस फैसले से टकराव की आंशका ओर बढ़ सकती हैं क्योंकि किसान मोर्चा के नेताओं ने पहले ही स्पष्ट कह रखा है कि जब तक कृषि कानून वापिस नहीं होंगे तब तक प्रदेश में बीजेपी पार्टी के कार्यकमों का बहिष्कार होता रहेगा. उनके विधायकों व मंत्रियों को गांवों में नहीं घुसने दिया जाएगा. अगर अब इसी तर्ज पर कार्यक्रम आयोजित किए गए तो किसानों और भाजपा नेताओं के बीच टकराव की घटनाएं बढ़ सकती हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!